पर्यटक स्थल

सिंहेश्वर स्थान :-यहाँ स्थित प्राचीन शिव मंदिर इस जिले का प्रमुख आकर्षण केन्द्र है। एक पौराणिक कथा के अनुसार, ऋषया श्रृंग के आश्रम में एक प्राकृतिक शिवलिंग उत्पन्न हुई थी। उस स्थान पर बाद में एक खूबसूरत मंदिर बना। एक व्यापारी जिसका नाम हरि चरण चौधरी था, ने वर्तमान मंदिर का निर्माण लगभग 200 वर्ष पूर्व करवाया था। यह शिवलिंग एक विशाल चट्टान पर स्थित है, जो कि करीबन 15-16 फीट ऊंचा है। प्रतिवर्ष महाशिवरात्रि के दिन भक्तों तथा श्रद्धालुओं की यहाँ अपार भीड़ रहती है।
बाबा बिशु राउत पचरासी धाम :- मधेपुरा के चौसा प्रखंड सबसे अंतिम छोर पर अवस्थित बाबा बिशु राउत पचरासी धाम लोगो की आस्था का केंद्र है |लोक देव के रूप में चर्चित पशु पलकों के लिए पूजन का महत्पूर्ण केंद्र मन जाता है |13 अप्रैल से शुभारंभ होने वाली पूर्वोतर बिहार के सबसे चर्चित लोक देवता बाबा विशु राउत पचारासी धाम का भव्य मेला का आयोजन लगभग २०० (अनुमानित ) बरसों से आयोजित हो रही है |मालूम हो कि बीते 14 अप्रैल 2015 को सूबे के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार स्वयं मेला का उद्घाटन कर लोक देवता बाबा विशु की प्रतिमा पर दुधाभिषेक किया |इसके पूर्व लालू प्रसाद ने भी अपने मुख्यमंत्रीत्व काल में कई बार इस मेला में पहुंच कर बाबा विशु राउत की प्रतिमा पर दुधाभिषेक करने के बाद आयोजित आम सभा में पचरासी स्थल को पर्यटन दर्जा देने की घोषणा की गई थी। वर्तमान में  इसे  पर्यटन स्थाल का दर्जा दिया गया है |